War Poets: A Note

The First World War and its horrors greatly influenced Modern Poetry. Poets like Richard Aldington, Laurence Binyon, Edmund Blunden, Rupert Brooke, Wilfrid Wilson Gibson, Robert Graves, Julian Grenfell, Ivor Gurney, David Jones, Robert Nichols, Wilfred Owen, Herbert Read, Isaac Rosenberg, Siegfried Sassoon, Charles Hamilton Sorley and Edward Thomas composed war poems. Poets like Rupert Brooke and some others did not personally experience the horrors of war. That is why they sang of patriotism, nobility and sacrifice. But Wilfred Owen, Siegfried Sassoon and some others exposed the horror of war. It is because they personally experienced the horror of war. Charles Hamilton Sorley and Issac Rosenberg and all other poets mentioned above contributed a lot to the development of war poetry. In short, the war poets presented the ugly face of war in their poetry.

हिंदी अनुवाद: प्रथम विश्व युद्ध और इसकी भयावहता ने आधुनिक कविता को बहुत प्रभावित किया। रिचर्ड एल्डिंगटन, लारेंस बिनियन, एडमंड ब्लंडेन, रूपर्ट ब्रुक, विल्फ्रिड विल्सन गिब्सन, रॉबर्ट ग्रेव्स, जूलियन ग्रेनफेल, आइवर गुर्नी, डेविड जोन्स, रॉबर्ट निकोल्स, विल्फ्रेड ओवेन, हर्बर्ट रीड, आइजैक रोसेनबर्ग, सिगफ्राइड ससून, चार्ल्स हैमिल्टन सोरली और एडवर्ड थॉमस जैसे कवियों ने युद्ध कविताओं की रचना की। रूपर्ट ब्रुक और कुछ अन्य कवियों ने व्यक्तिगत रूप से युद्ध की भयावहता का अनुभव नहीं किया। इसलिए उन्होंने देशभक्ति, बड़प्पन और बलिदान के गीत गाए। लेकिन विल्फ्रेड ओवेन, सिगफ्रीड ससून और कुछ अन्य लोगों ने युद्ध की भयावहता को उजागर किया। ऐसा इसलिए है क्योंकि उन्होंने व्यक्तिगत रूप से युद्ध की भयावहता का अनुभव किया है। चार्ल्स हैमिल्टन सोर्ले और इस्साक रोसेनबर्ग और ऊपर वर्णित अन्य सभी कवियों ने युद्ध कविता के विकास में बहुत योगदान दिया। संक्षेप में, युद्ध कवियों ने अपने काव्य में युद्ध का कुरूप चेहरा प्रस्तुत किया।

Comments

Popular posts from this blog

The Axe by R.K Narayan: A Summary

The Cherry Tree by Ruskin Bond: A Summary

Questions for CCE Dec. 2022: MA English Sem I; Paper I (Poetry); Govt. P.G. College Satna